News in Flash

मानकीकरण में आपका स्वागत है


Standardisationमानकीकरण तकनीकी मानकों को विकसित करने और उस पर सहमत होने की प्रक्रिया है। मानक एक दस्तावेज है जो एक समान इंजीनियरी या तकनीकी विनिर्देशों, मापदंड, विधियां, प्रक्रियाओं या पद्धतियों को स्थापित करता है। मानकीकरण सशस्त्र सेनाओं के लिए संभारिकी प्रबंधन का एक अनिवार्य साधन है। रक्षा में मानकीकरण का मुख्य उद्देश्य रक्षा सेनाओँ की तैयारी/क्षमता को प्रभावित किए बिना मौजूदा वस्तु-सूची में कमी करना है।

संहिताकरण एक भाषा के लिए मानकीकरण तथा मानक विकसित करने की प्रक्रिया है।

मानकीकरण निदेशालय की स्थापना 26 जून, 1962 को डी आर डी ओ के अंतर्गत रक्षा सेवाओं में मदों की वृद्धि को नियंत्रित करने के उद्देश से की गई थी। इस संगठन को 1965 ई. में रक्षा उत्पादन तथा आपूर्ति विभाग (डी पी एंड एस) के नियंत्रणाधीन कर दिया गया मानकीकरण निदेशालय में 09 सेल हैं जो इच्छापुर, कानपुर, बेंगलुरु, पुणे, जबलपुर, चेन्नई, देहरादून, नई दिल्ली तथा हैदराबाद में अवस्थित हैं तथा 03 डिटैचमेंट मुंबई, विशाखापत्तनम तथा कोच्चि में हैं। निदेशालय के दो प्रशिक्षण संस्थान पुणे तथा दिल्ली में संबंधित जगह के मानकीकरण सेलों के साथ सह-अवस्थित हैं।

मानकीकरण सशस्त्र सेनाओं के लिए संभारिकी प्रबंधन का एक अनिवार्य साधन है। प्रापण, स्टॉक रखी गई, परिवहन तथा रणक्षेत्र में सेना की टुकडियों द्वारा प्रयुक्त मदों की संख्या जितनी ही कम होगी, प्रबंधन की क्षमता उतनी ही अधिक अच्छी होगी। इस लक्ष्य को पूरा करने के लिए मानकीकरण निदेशालय ने रक्षा वस्तु - सूची का एक सशक्त डाटाबेस बनाया है।

अलाइड कमेटी/135 की सदस्यता मानकीकरण निदेशालय ने 10 जून, 2008 को अलाइड कमेटी (एसी/135) के साथ एक महत्वपूर्ण अनुबंध पर हस्ताक्षर किया है जिससे भारत नाटो संहिताकरण प्रणाली (एन सी एस) के शीर्ष निकाय एसी/135 का सदस्य बन गया है। इस अनुबंध से भारतीय संहिताकरण प्रणाली अंतर्राष्ट्रीय स्तर का हो गया है। और अब यह निदेशालय राष्ट्रीय संहिताकरण ब्यूरो(एन सी बी) की स्थिति प्राप्त कर लिया है।

फ्रांस के साथ संहिताकरण डाटा के आदान-प्रदान पर 26 मई, 2010 को द्विपक्षय समझौते पर हस्ताक्षर हुआ है। फ्रांस के साथ द्विपक्षीय समझौते पर हस्ताक्षर होने से भारत और फ्रांस के एन सी बी के बीच संहिताकरण डाटा आदान-प्रदान में सुविधा होगी। चूंकि काफी संख्या में उपस्कर तथा हथियार प्रणाली फ्रांस से आयात किए जा रहे हैं, इससे हमारे संहिताकरण प्रयासों में कमी आयेगी।

इस वेबसाइट का उद्देश्य रक्षा संगठनों को मानको तक सुविधारपूर्वक तथा तेजी से पहुंच बनाने में सुविधा प्रदान करना है। इस वेबसाइट को और अधिक सूचनाप्रद तथा रोचक बनाने के लिए आपके सुझावों/विचारों का स्वागत है।